बीसीसीआई ने द्रविड़ को नोटिस भेजा, नाराज गांगुली ने कहा- भारतीय क्रिकेट को भगवान ही बचाए

द्रविड़ नेशनल क्रिकेट एकेडमी (एनसीए) के प्रमुख होने के साथ इंडिया सीमेंट ग्रुप में उपाध्यक्ष भी हैं।

बीसीसीआई ने द्रविड़ को नोटिस भेजा, नाराज गांगुली ने कहा- भारतीय क्रिकेट को भगवान ही बचाए
Desh 24X7
Desh 24X7

August 7,2019 04:38

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के लोकपाल डीके जैन ने हितों के टकराव को लेकर नोटिस भेजा है। द्रविड़ नेशनल क्रिकेट एकेडमी (एनसीए) के प्रमुख होने के साथ इंडिया सीमेंट ग्रुप में उपाध्यक्ष भी हैं। आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स इंडिया सीमेंट की है। द्रविड़ को नोटिस भेजे जाने पर पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने नाराजगी जताई है। दोनों ने ट्वीट कर कहा कि भारतीय क्रिकेट को भगवान ही बचाए।

 

डीके जैन ने द्रविड़ को नोटिस मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के सदस्य संजीव गुप्ता की शिकायत पर भेजा गया। संजीव गुप्ता ने पहले भी सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण के खिलाफ भी हितों के टकराव की शिकायत की थी।

 

यह खबरों में बने रहने के बेहतर तरीका है : गांगुली

 

गांगुली ने ट्वीट किया, ‘हितों के टकराव नाम का नया फैशन भारतीय क्रिकेट में चल रहा है। यह खबरों में बने रहने के बेहतर तरीका है। भारतीय क्रिकेट को भगवान ही बचाए। अब द्रविड़ को बीसीसीआई ने हितों के टकराव का नोटिस भेजा है।’

 

हरभजन ने कहा- भारतीय क्रिकेट में उनसे बेहतर इंसान नहीं मिल सकता

 

हरभजन ने कहा, ‘क्या यह सच है? पता नहीं क्या चल रहा है? आपको भारतीय क्रिकेट में उनसे बेहतर इंसान नहीं मिल सकता। इन महान खिलाड़ियों को नोटिस भेजना, उन्हें बेइज्जत करने के समान है। क्रिकेट की बेहतरी के लिए उनका साथ चाहिए। हां, भारतीय क्रिकेट को भगवान ही बचाए।’

 

बीसीसीआई के एक पदाधिकारी ने नोटिस भेजे जाने की पुष्टि करते हुए कहा, ‘हां, द्रविड़ को जैन ने पिछले सप्ताह नोटिस भेजा है और दो सप्ताह के अंदर जवाब मांगा है।’ सचिन पर क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी के साथ मुंबई इंडियंस और लक्ष्मण को क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी के साथ सनराइजर्स हैदराबाद के साथ जुड़े होने पर नोटिस भेजा गया था। गांगुली के खिलाफ भी बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के साथ दिल्ली कैपिटल्स से जुड़े होने पर नोटिस भेजा गया था।

sourav ganguly harbhajan singh bcci