कार एक्सीडेंट में कभी सपने टूटे थे, टोक्यो में गोल्ड लेकर अवनि ने देश के सपने सच किये

अवनि की कामयाबी की कहानी किसी के लिए भी प्रेरणा स्त्रोत है। 2012 में जब एक भीषण कार दुर्घटना में उनकी रीढ़ पर गहरा आघात लगा तो उन्हें व्हील चेयर पर आना पड़ा,पर जीवन में हिम्मत नहीं हारी

कार एक्सीडेंट में कभी सपने टूटे थे, टोक्यो में गोल्ड लेकर अवनि ने देश के सपने सच किये
Desh 24X7
Desh 24X7

August 30,2021 12:31

भारत की 20 वर्षीय निशानेबाज अवनि लेखरा ने सोमवार को टोक्यो पैरालंपिक खेलों में गोल्ड मैडल जीतकर इतिहास रच दिया। अवनि ने सोमवार को महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में पैरालंपिक खेलों का रिकॉर्ड कायम करते हुए 249.6 अंक हासिल किए। चीन की झांग कुइपिंग 248.9 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहीं और रजत पदक अपने नाम किया। वहीं, यूक्रेन की इरिना शेतनिक 227.5 अंक के साथ कांस्य पदक हासिल करने में कामयाब रहीं।अवनि पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं।

 

 

अवनि की कामयाबी की कहानी किसी के लिए भी प्रेणनास्रोत हो सकती है।  2012 में जब एक भीषण कार दुर्घटना में उनकी रीढ़ पर गहरा आघात लगा तो उन्हें व्हील चेयर पर आना पड़ा। उस वक़्त उन्होंने ओलिंपिक चैंपियन और निशानेबाज़ अभिनव बिंद्रा की किताब पढ़ी। 13-14  की उम्र में अवनि ने राइफल उठायी और निशानेबाज़ बनने की ठान ली। वे भी चैंपियन बनना चाहती थीं। अवनि के इन सपनों को पूरा करने में घरवालों ने कोई कसर नहीं छोड़ी। वैसे उन्हें तीरंदाज़ी का भी शौक था लेकिन जयपुर के जगतपुरा शूटिंग काम्प्लेक्स में अवनि को निशानेबाज़ी में ज्यादा सफलता मिली। कोच उनके हुनर देखकर हैरान थे। बाद में भारत सरकार ने भी उन्हें कम्पटीशन से लेकर कोचिंग की हर सुविधा दी। 

 

     टोक्यो में भारत के लिए पहला स्वर्ण जीतने के बाद उत्साहित अवनि लेखरा ने कहा, 'मैं अपनी फीलिंग नहीं बयान कर सकती , मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं दुनिया के शीर्ष पर हूं।' वे पहली खिलाड़ी हैं जिन्होंने पैरालंपिक निशानेबाज़ी की स्पर्धा में गोल्ड जीता है। इस पर लेखरा ने कहा, 'मैं बहुत खुश हूं कि मैं इसमें योगदान देने वाली बन पायी । उम्मीद है कि अभी और भी कई पदक आने बाकी हैं।' प्रधानमंत्री मोदी ने ट्ववीट के ज़रिये उन्हें बधाई दी और फ़ोन पर बात कर उनके हौसले को बढ़ाया। कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने भी अवनि लेखरा के गोल्ड मैडल को देश के खेलों के लिए बड़ी उपलब्धि कहा है।  

Avani Lekhara Paralympics Tokyo Paralympics Avani Lekhara shooting gold India at Paralympics