PM मोदी बोले- करतारपुर पर भारत की भावनाओं के सम्मान के लिए इमरान का धन्यवाद

पीएम नरेंद्र मोदी थोड़ी ही देर मकरतारपुर कॉरिडोर के इंटरग्रेटेड चेकपोस्‍टर का उद्धघाटन करेंगे। इस अवसर पर उन्‍होंने कहा कि यह ऐतिहासिक मौका है।

PM मोदी बोले- करतारपुर पर भारत की भावनाओं के सम्मान के लिए इमरान का धन्यवाद
Desh 24X7
Desh 24X7

November 9,2019 12:44

PM नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का अहित करने वाली ताकतों से सतर्क रहें। आज ऐतिहासिक मौका है। गुरु नानकदेव की शिक्षा और सिख इतिहास व साहित्‍य को बढ़ावा देने के कई कदम उठाए गए हैं। कॉरिडोर के शुरू हाेने से सिखाें की मुराद पूरी हुई है। उन्‍होंने गुरु श्री नानकदेव की शिक्षाओं का उल्‍लेख किया। वह थोड़ी देर में यहां करतारपुर कॉरिडोर के इंटरग्रेटेड चेकपोस्‍ट का उद्घाटन करेंगे। इससे पहले वह इस अवरसर पर आयोजित अरदास में शामिल हुए।

 

 

पीएम ने कहा कि देश के लिए बलिदान होने वाले वालों के लिए भी केंद्र सरकार ने कई कदम उठाए हैं। गुरु नानक जी कहा करते थे संसार में सेवा का मार्ग अपनाने से ही जीवन सफल होता है। आइए संकल्प लें कि भारत का अहित करने वाली ताकतों से सतर्क रहेंगे। गुरु नानक जी की प्रेरणा आज भी प्रासंगिक है। एक बार फिर गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर करतारपुर कॉरिडोर की बहुत बहुत बधाई। श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के सामने इस पवित्र कार्य का अवसर मिला, इसके लिए मैं धन्य महसूस करता हूं। आप सभी को धन्यवाद।

 

 

श्री गुरु गोबिंद सिंह जी का भी जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि उनकी स्मृति व उनका संदेश अमर रहे। श्री गुरु नानक देव जी और खालसा पंथ की रिसर्च को बढ़ावा देने के लिए ब्रिटेन, कनाडा में चेयर की स्थापना की गई है। उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव जी के संदेशों से नई पीढ़ी का साक्षात्कार हो, इसके लिए कई कार्य व प्रयास चल रहे हैं। कुछ कार्य पूरे हो चुके हैं या फिर पूरे होने वाले हैं। गुरु नानक देव जी से जुड़े स्थानों के लिए एक विशेष ट्रेन भी चलाई जा रही है। सिखों के पांचों तख्तों के लिए ट्रेन व विमान सेवा पर विशेष जोर दिया गया है। केंद्र ने सरकार एक और अहम फैसला लिया है जिसका लाभ दुनिया भर में बसे सिख परिवारों को हुआ है। इससे भारत आकर उन्हें अरदास करने में आसानी होगी।

 

 

 

उन्‍होंने कहा कि अनुच्छेद 370 हटने से जम्मू-कश्मीर में भी सिख परिवारों को वे अधिकार मिल पाएंगे जो वहां के लोगों को मिलते थे। भारत की एकता को लेकर गुरु नानक देव जी से लेकर गुरु गोबिंद सिंह जी तक ने जीवन समर्पित किया है।

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन आसान हो जाएंगे। पीएम ने कहा कि वह करतारपुर साहिब दर्शन के लिए रास्ता खोलने को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का आभार व धन्यवाद करते हैं। वह भारत व पाकिस्तान के श्रमिकों का भी आभार व्यक्त करते हैं जिन्होंने रात-दिन लगकर कॉरिडोर का कार्य पूरा किया।

 

 

पीएम ने कहा कि गुरुदेव ने पानी को लेकर चिंता जताई थी। उन्होंने कहा था कि पानी को हमेशा प्राथमिकता देनी चाहिए क्योंकि पानी से सारी सृष्टि को जीवन मिलता है। आज हम प्रकृति के प्रति लापरवाह हो गए हैं, लेकिन गुरु की बाणी बार-बार यही कह रही है कि वापस लौटो, उन संस्कारों की ओर लौटो जो प्रकृति ने हमें दिया है। बीते एक वर्ष से गुरु जी के 550वें प्रकाश पर्व के समारोह चल रहे हैं। पूरी दुनिया में भारतीय दूतावास व उच्चायोग कार्यक्रम कर रहे हैं। देश-विदेश में एक साल से कीर्तन, लंगर आदि की गुरु नानक देव जी की सीख का प्रचार किया जा रहा है।

 

 

पीएम ने कहा कि गुरु नानक देव जी ने गुलामी के उस कठिन कालखंड में भारत की चेतना को जगाए रखने और बचाए रखने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। उन्होंने समाज को एक ऐसी आर्थिक व्यवस्था की भेंट दी जो सच्चाई, ईमानदारी व आत्मसम्मान पर टिकी है। उन्होंने सीख दी कि धन तो आता-जाता रहेगा पर सच्चे मूल्य हमेशा रहते हैं। यदि हम अपने मूल्यों पर अडिग रहकर काम करते हैं तो समृद्धि स्थायी रहती है।

 

 

उन्होंने कहा कि करतारपुर के कण कण में गुरु नानक देव जी की वायु मिली हुई है। इसी धरती पर उन्होंने नाम जपो की विधि बताई। यहीं पर अपनी मेहनत से पैदा की गई फसल को मिल बांटकर खाने अर्थात वंड छको का मंत्र दिया।

 

 

उन्‍होंने कहा कि यह कॉरिडोर हर दिन हजारों श्रद्धालुओं की सेवा करेगा। करतारपुर से मिली गुरु जी की बाणी की ऊर्जा हमें अर्थात हर भारतीयों को आशीर्वाद देगी। पीएम ने कहा कि गुरु नानक देव जी ने सिखाया है कि बिना भेदभाव के जब हम सभी मिलकर काम करते हैं तो सफलता पक्की हो जाती है। करतारपुर में गुरु जी ने प्रकृति का महत्व बताया था। आज जब पानी के दोहन की बात होती है तो उनकी बाणी हमारे मार्गदर्शन का आधार बनती है।

 

 

इसके साथ ही उन्‍होंने कॉरिडोर का शुभारंभ कर सिखों को अनमाेल तोहफा देंगे। इसके बाद वह पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के लिए जब भारत से श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना करेंगे। समारोह में प्रधानमंत्री मोदी को सिखों को ओर से कौमी सेवा अवार्ड प्रदान किया गया। मोदी ने केंद्र की और से गुरुनानक जी की याद में तैयार  550 रुपये का सिक्का जारी किया। उन्‍होंने पाचं डाक टिकट जारी भी जारी किए। इन डाक टिकटों पर पांच गुरुद्वारों की तस्वीर हैं।

 

 

 

Kartarpur corridor inauguration Historic Sikh Pilgrimage Kartarpur politics state Kartarpur Corridor Opening of kartarpur corridor