यूके में लेबर पार्टी अध्यक्ष से कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल की कश्मीर चर्चा को आनंद शर्मा ने खारिज किया

नई दिल्ली स्थित पार्टी की हाईकमान ने कहा कि जम्मू और कश्मीर पूरी तरह भारत का आंतरिक मामला है और प्रतिनिधिमंडल को इस मुद्दे पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है।

यूके में लेबर पार्टी अध्यक्ष से कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल की कश्मीर चर्चा को आनंद शर्मा ने खारिज किया

लेबर पार्टी के प्रमुख जर्मी कार्बिन के यह कहने के एक दिन बाद कि वह कांग्रेस पार्टी की इंग्लैंड शाखा के सदस्यों से मिले और उन्होंने कश्मीर में मानवाधिकारों की स्थिति के बारे में चर्चा की, नई दिल्ली स्थित पार्टी की हाईकमान ने डैमेज कंट्रोल करते हुए कहा कि जम्मू और कश्मीर पूरी तरह भारत का आंतरिक मामला है और प्रतिनिधिमंडल को इस मुद्दे पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है।

 

हम इस गलत प्रतिनिधित्व और अनधिकृत बयानबाजी से हतप्रभ हैं कि यह सब कांग्रेस पार्टी की तरफ से किया गया है, वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने पत्रकारों से कहा।

लेबर पार्टी के अध्यक्ष कार्बिन ने बुधवार को इंग्लैंड में कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधियों से मिलने के बाद कश्मीर में भय और हिंसा के माहौल को समाप्त करने की मांग की थी।

 

भारतीय कांग्रेस पार्टी के यूके में प्रतिनिधियों के साथ बहुत ही सकारात्मक बैठक हुई, हमने कश्मीर में मानवाधिकारों के बारे में चर्चा भी हुई। इसमें कमी होनी चाहिए और हिंसा एवं भय का माहौल समाप्त होना चाहिए, जिसने लम्बे समय से क्षेत्र को अपनी गिरफ्त में ले रखा है, कार्बिन ने ट्वीट करके कहा।

 

कार्बिन पर ब्रिटेन में बसे भारतीय समुदाय का तभी से बहुत अधिक दबाव है, जब से लेबर पार्टी ने भारत सरकार के 5 अगस्त के उस निर्णय के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया है, जिसमें जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाली धारा 370 को वापस लिया गया है।

 

भारतीय जनता पार्टी ने इस मीटिंग को भय पैदा करने वाला बताते हुए कहा है कि भारत कांग्रेस को इस शर्मनाक हरकत का समुचित उत्तर देगा।

इंडियन ओवरसीज कांग्रेस यूके ने कहा है कि कार्बिन के साथ मीटिंग, यह बतलाने के लिए थी कि जम्मू और कश्मीर पर बाहरी हस्तक्षेप स्वीकार नहीं किया जायेगा। उसने भाजपा पर गलत बयानबाजी प्रचारित करने का आरोप भी लगाया है।

कांग्रेस हाईकमान का कहना है कि उसकी इंडियन ओवरसीज कांग्रेस शाखा का कार्य सिर्फ भारतीय समुदाय से संबंधित मामलों के विषय में कार्य करने तक मर्यादित है।

 

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की ओवरसीज शाखा का जो भी प्रतिनिधिमंडल इस विषय में कार्बिन से मिला, वह न तो इस कार्य के लिए अधिकृत है और न ही उसे भारत की घरेलू समस्याओं या नीतिगत विषयों पर बोलने का अधिकार है। उनका कार्यक्षेत्र सिर्फ भारतीय समुदाय से संबंधित कार्यों तक सीमित है, आनंद शर्मा ने कहा।

 

वह आगे बोले कि कांग्रेस के अधिकारिक विचार नई दिल्ली से ही प्रकट किए जाते हैं।

 

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थिति स्पष्ट और दृढ़ है और यह हमारी कार्य समिति के 6 अगस्त के प्रस्ताव में भी है कि जम्मू और कश्मीर से संबंधित मामले पूरी तरह भारत के आंतरिक मामले हैं। कांग्रेस को जो भी कहना है आधिकारिक रूप से यहां बता दिया गया है, इसके अतिरिक्त अन्य किसी को भी यह करने का अधिकार नहीं है। हम इस तरह के किसी भी दावे को पूरी तरह खारिज करते हैं, उन्होंने कहा।

UK Kashmir Congress BJP Corbyn Labour party