कोरोना वायरस की आड़ में प्राइवेट हॉस्पिटल की लूट से बचना है तो ये जान लो

तय लिस्ट से अधिक पैसा लेने वाले सेंटरों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। इसकी निगरानी के लिए टीमें भी बना दी गई है।

कोरोना वायरस की आड़ में प्राइवेट हॉस्पिटल की लूट से बचना है तो ये जान लो
Desh 24X7
Desh 24X7

January 7,2022 01:53

उत्तर प्रदेश सहित देशभर में जानलेवा कोरोना वायरस महामारी की रफ्तार बेकाबू हो रही है। कोरोना के सबसे खतरनाक वेरिएंट ओमिक्रोन के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। ओमिक्रॉन से दो मौतें हो चुकी हैं। देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के एक लाख 17 हजार 100 नए केस सामने आए हैं। वहीं कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ती संख्या को देखते हुए सरकार और स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। जबकि निजी अस्पतालों द्वारा कोरोना इलाज के नाम पर लूट मचाने का धंधा फिर से शुरू हो गया है। इस बात को ध्यान में रखते हुए यूपी सरकार ने पैथलैब और रेडियोलाजी सेंटर पर होने वाली जाँच के दाम तय कर दिए गए हैं।

 

इसके बावजूद सिटी अस्पताल में मरीजों से सीटी स्कैन के एवज में पाँच हजार से अधिक शुल्क लिए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग ने रेट लिस्ट सभी पैथलैब और रेडियोलाजी सेंटरों को भेज दी है। तय लिस्ट से अधिक पैसा लेने वाले सेंटरों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। इसकी निगरानी के लिए टीमें भी बना दी गई है। कहीं से कोई शिकायत मिलती है तो स्वास्थ्य विभाग कार्रवाई करेगा। हम आपको आरटीपीसीआर, एंटीजन और ट्रूनेट जाँच के नए रेट बता देते हैं |

निजी अस्पताल एवं प्रयोगशाला में आरटीपीसीआर जाँच, 700 रुपए प्लस जीएसटी |

 

निजी प्रयोगशाला में स्वयं नमूना लेने पर आरटीपीसीआर 900 रुपए प्लस जीएसटी |

 

राज्य सरकार के अधिकारी द्वारा निजी लैब पर आरटीपीसीआर 500 रुपए प्लस जीएसटी ।

निजी प्रयोगशालाओं में एंटीजन जाँच 250 रुपए |

 

निजी प्रयोगशालाओं में ट्रूनेट जाँच, 1250 रुपए, घर से नमूना लेने पर 200 रुपए अतिरिक्त |

16 स्लाइस तक, 2000 रुपए, 16 से 64 स्लाइस तक 2250 रुपए, 64 स्लाइस से अधिक 2500 रुपए |

 

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए योगी आदित्यनाथ  सरकार ने नई पाबंदियाँ लागू कर दी हैं। इसके तहत अब कक्षा 10वीं तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को मकर संक्रांति यानी 14 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है। इस दौरान स्कूली छात्रों का टीकाकरण जारी रहेगा। कोरोना के मद्देनजर निर्देश दिया कि जिन जिलों में कोरोना के एक्टिव मामले एक हजार से ज्यादा हो जाए, वहाँ जिम, स्पा, सिनेमाहॉल, बैंकेट हॉल, रेस्टोरेंट इत्यादि सार्वजनिक स्थलों को 50 फीसदी क्षमता के साथ संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही शादी समारोह का आयोजन बंद जगहों पर हो और एक समय में 100 से अधिक लोगों की सहभागिता न हो। खुले स्थान पर ग्राउंड की कुल क्षमता के 50 फीसदी से अधिक लोगों के उपस्थिति की अनुमति न दी जाए। इसके साथ ही मास्क और सैनिटाइजर की अनिवार्यता भी आवश्यक है।

 

हम आपको बता दें, राज्य के सभी सरकारी, अर्धसरकारी, निजी, ट्रस्ट आदि संस्थाओं, कंपनियों, ऐतिहासिक स्मारक, कार्यालयों, धार्मिक स्थलों, होटल-रेस्त्रां, औद्योगिक इकाइयों में तत्काल प्रभाव से कोविड हेल्प डेस्क बनाए जाएंगे। इसके अलावा जरूरत के अनुसार डे केयर सेंटर भी स्थापित होंगे। बिना स्क्रीनिंग/सैनिटाइजेशन के किसी को परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।

 

बता दें कि देश में जानलेवा कोरोना वायरस महामारी की रफ्तार बेकाबू हो रही है।कोरोना के सबसे खतरनाक वेरिएंट ओमिक्रोन के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के एक लाख 17 हजार 100 नए केस सामने आए हैं। 302 लोगों की मौत हुई है। अब तक कोरोना के ओमिक्रोन वेरिएंट के 3007 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आँकड़ों के मुताबिक देश में अब एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 3 लाख 71 हजार 63 हो गई है। इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 4 लाख 83 हजार 178 हो गई है। कल 30 हजार 836 लोग ठीक हुए। अभी तक 3 करोड़ 43 लाख 71 हजार 845 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। देश में अबतक कोरोना के तीन करोड़ 52 लाख 26 हजार 386 केस सामने आ चुके हैं।

 

 

corona virusomicron up election 2022