तेलंगाना राज्य परिवहन कर्मचारियों ने राज्यव्यापी बंद बुलाने की चेतावनी दी

हड़ताली कर्मचारियों की चिकित्सा सेवाएं बंद की जा चुकी हैं। राज्य परिवहन निगम के शहर के अस्पतालों में हड़ताली कर्मचारियों और उनके परिवार के लोगों को, आदेशों के आधार पर भर्ती नहीं किया जा रहा है।

तेलंगाना राज्य परिवहन कर्मचारियों ने राज्यव्यापी बंद बुलाने की चेतावनी दी

तेलंगाना राज्य परिवहन निगम (TSRTC) के हड़ताली कर्मचारियों ने बुधवार को धमकी दी है कि यदि उनकी मांगों को न माना गया, तो वह राज्य व्यापी बंद बुलायेंगे। हड़ताल शुरू हुये पांच दिन हो गए हैं।

 

हड़ताली कर्मचारियों की चिकित्सा सेवाएं बंद की जा चुकी हैं। राज्य परिवहन निगम के शहर के अस्पतालों में हड़ताली कर्मचारियों और उनके परिवार के लोगों को, आदेशों के आधार पर भर्ती नहीं किया जा रहा है। यह बात आपतकालीन मामलों में भी लागू हैं, हड़ताल पर बैठे एक वरिष्ठ कर्मचारी ने बताया।

 

तेलंगाना राज्य परिवहन निगम यूनियन के नेताओं ने एक सर्वदलीय बैठक में अपनी भूमिका पर कायम रहने की बात एक बार फिर से कहीं।

 

तेलंगाना परिवहन निगम की संयुक्त कार्यवाही कमेटी के अध्यक्ष अश्वथामा रेड्डी ने कहा कि सरकार ने हमारे ₹2400 करोड़ के भुगतान को रोक दिया है।

 

अश्वथामा ने आगे कहा कि भविष्य निधि फंड में हमारे द्वारा जमा कराये गये ₹2000 करोड़ का उपयोग प्रबंधन कर रहा है। हमारी मांग है कि इस पैसे को हमारे भविष्य निधि खातों में जमा कराया जाये और सभी बकाया भुगतान किये जायें।

 

एविएशन टरबाइन ईंधन पर 4% टैक्स है, रेलवे को दिये जाने वाले डीजल पर 14% टैक्स लिया जाता है, लेकिन राज्य परिवहन निगम को डीजल पर 27.25% टैक्स देना पड़ता है, रेड्डी ने कहा। वह बोले कि हमारी मांग है कि टैक्स की इस असमानता को समाप्त किया जाये।

 

राजव्यापी बंद बुलाने का निर्णय राज्यपाल तमिलसाई सौन्दरराजन से मिलने के बाद लिया जायेगा। हमने राज्यपाल से शुक्रवार को समय मांगा है, संयुक्त कमेटी के एक सदस्य ने कहा। वह आगे बोले, हम उन्हें राज्य परिवहन निगम कर्मचारियों के साथ किये गये अन्याय की जानकारी देंगे। हम तेलंगाना के लोगों और सभी विपक्षी दलों से प्रार्थना करते हैं कि तेलंगाना राज्य परिवहन निगम को बचाने के लिए हमारे आंदोलन का समर्थन करें।

 

कांग्रेस और भाजपा दोनों ने आंदोलन को अपना समर्थन दिया है।

TSRTC Telangana