पीएमओ की सलाह पर झुके खट्टर, चहेते एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई; किसानों ने भी तोड़ा धरना

प्रदर्शनकारियों के सिर तोड़ने की बात करने वाले हरियाणा के एसडीएम आयुष सिन्हा को जिस तरह खट्टर सरकार बचाती आ रही थी उससे किसान आंदोलन उग्र होता जा रहा था

पीएमओ की सलाह पर झुके खट्टर, चहेते एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई; किसानों ने भी तोड़ा धरना
Desh 24X7
Desh 24X7

September 11,2021 12:38

करनाल में प्रदर्शनकारियों के सिर तोड़ने की बात करने वाले हरियाणा के एसडीएम आयुष सिन्हा को जिस तरह खट्टर सरकार बचाती आ रही थी उससे किसान आंदोलन उग्र होता जा रहा था। आंदोलन को खत्म करने के लिए सिन्हा के खिलाफ सख्त कार्रवाई और किसानों पर लाठीचार्ज करने के मामले में न्यायिक जांच की मांग की जा रही थी। लेकिन हरियाणा की प्रभावशाली नौकरशाही का एक मज़बूत धड़ा इन मांगो को लेकर झुकने को तैयार नहीं थे। सीएम मनोहर लाल खट्टर भी मांगों को लेकर असमंजस में थे। 

 

 

सूत्रों के मुताबिक आई बी की रिपोर्ट में कहा गया था की जल्द मांगे नहीं मानी गयी तो किसान आंदोलन पूरे  हरियाणा को ठप कर सकता था जिसका नुकसान भाजपा सरकार को होता।  आखिकार पीएमओ की सलाह पर खट्टर सरकसर तैयार हुई और किसानों की मांगों को एक तरह से स्वीकार कर लिया गया। 

 

 

लिहाजा शनिवार को किसानों पर हुए लाठीचार्ज और एसडीएम आयुष सिन्हा के खिलाफ सख्त कार्रवाई जैसे कई मांगों को लेकर किसानों का प्रदर्शन खत्म हो गया।  अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह ने बताया कि आम सहमति से निर्णय हुआ है कि सरकार 28 अगस्त को हुई घटना की हाईकोर्ट के पूर्व जज से न्यायिक जांच करवाएगी। जांच एक महीने में पूरी होगी। पूर्व एसडीएम आयुष सिन्हा इस दौरान छुट्टी पर रहेंगे।  इस बीच हरियाणा सरकार मृतक किसान सतीश काजल के दो परिजनों को करनाल में डीसी रेट पर सेंक्शन पोस्ट पर नौकरी देगी। इस फैसले के कुछ देर बाद किसान नेता गुरनाम सिंह ने आंदोलन को खत्म करने का एलान कर दिया है। 

 

 

इससे पहले शुक्रवार देर रात तक अफसरों और किसानों की बैठक चली। सरकार के निर्देश पर किसानों से बातचीत करने के लिए शुक्रवार को कृषि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) देवेंद्र सिंह करनाल पहुंचे हुए थे। जबकि किसानों की ओर से इस बैठक में भाकियू हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी समेत पंद्रह सदस्यीय कमेटी के किसान नेता भी शामिल थे।

 

farmers agitation Karnal SDM Ayush Sinha Haryana Khattar Govt BJP