इराक: बेरोजगारी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर बरसाई गोलियां, 60 लोगों की मौत

विरोध प्रदर्शनों में अभी तक कम से कम 60 लोगों के मारे जाने की ख़बर है, इसके साथ ही करीब 200 लोग घायल बताए जा रहे हैं.

इराक: बेरोजगारी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर बरसाई गोलियां, 60 लोगों की मौत
अमित झा
अमित झा

October 5,2019 12:51

बेरोजगारी, भ्रष्टाचार के मसले पर इराक में पिछले एक हफ्ते से विरोध प्रदर्शन चल रहा है. इराक की राजधानी बगदाद में जब प्रदर्शनकारियों ने हिंसक मोड़ अपनाया तो इराकी सुरक्षा फोर्स ने उनपर फायरिंग कर दी. हिंसक विरोध प्रदर्शन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 60 हो गई है, जबकि 1,500 से अधिक घायल हुए हैं.

 

 

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वो देश में बढ़ती बेरोज़गारी, खराब सार्वजनिक सेवाओं और बढ़ते भ्रष्टाचार की वजह से गुस्से में हैं.

 

 

इन विरोध प्रदर्शनों में बड़ी संख्या में युवा शामिल हैं. उनका कहना है कि प्रधानमंत्री उनसे झूठे वायदे कर रहे हैं.

 

 

सेना का कहना कुछ अज्ञात बंदूकधारियों ने बगदाद में चार लोगों को गोली मारी जिसमें दो पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं.

 

 

वहीं इराक़ के प्रधानमंत्री अदेल अब्देल महदी ने अपने प्रशासन का बचाव किया है और कहा है कि वो गरीब परिवारों की मदद करने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि किसी भी समस्या का हल जादू की छड़ी से नहीं हो सकता. उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

 

प्रधानमंत्री की इस अपील के बावजूद इराक़ में हर दिन गुजरने के साथ ये विरोधी प्रदर्शन और उग्र होते जा रहे हैं.

 

बगदाद सहित कई अन्य शहरों में अनिश्चितकालीन समय तक के लिए कर्फ्यू लगाया गया है, इसके साथ ही इंटरनेट भी ब्लॉक किया गया है.

 

संयुक्त राष्ट्र और अमरीका ने भी इराक़ में खराब होते हालात पर अपनी चिंता जाहिर की है उन्होंने सरकार से इस पर नियंत्रण रखने की अपील की है.

 

इसके साथ ही मानवाधिकार समूह एमनेस्टी इंटरनेशनल ने भी सुरक्षाबलों से अपील की है कि वो प्रदर्शनकारियों के साथ शांति से निपटें.

iraq security forces baghdad