तालिबान के आते ही पठान इमरान खान क्यूँ छेड़ने लगे कश्मीर का राग?

तालिबानी आतंक पर फूल रहे पाक के नापाक इरादों को भले चीन तवज्‍जो दे पर भारत इन साज़िशों को हमेशा करता आया है बेनकाब

तालिबान के आते ही पठान इमरान खान क्यूँ छेड़ने लगे कश्मीर का राग?
Desh 24X7
Desh 24X7

September 13,2021 11:37

पाकिस्‍तान अपने नापाक इरादों से भारत में हमेशा अस्थिरता पैदा करने की कोशिश करता रहता है। अफगानिस्‍तान में तालिबान के कब्‍जे के बाद से पाकिस्‍तान मद में चूर है। पठान होने के नाते पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान तालिबान की सरकार को लेकर कुछ ज़्यादा ही उत्साहित है । शायद इसलिए इमरान सरकार कश्मीर मुद्दे को एक बार फिर हवा दे रही है । पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रविवार को 131 पन्नों का फर्जी डोजियर जारी किया है। इस डोजियर में पाकिस्तान ने  भारत को कश्मीरियों के मानवाधिकारों का उल्लंघन रोकने की हिदायत दी है। इसके अलावा कश्मीर में सक्रिय आतंकियों की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से भी की है। 

 

 

पाकिस्‍तानी मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद यूसुफ के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस डोजियर को खोलते हुए इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी। कुरैशी ने बताया कि पाकिस्तान ने जो डोजियर तैयार किया है वो भारत के अवैध हिस्से वाले जम्मू-कश्मीर में भारतीयों की आक्रामकता और बर्बरता को दिखाता है।'

 

 

शाह महमूद कुरैशी ने यह भी कहा कि इस डोजियर में तीन चैप्टर, 113 रेफरेंसेज, 26 अंतर्राष्ट्रीय मीडिया समीक्षा रिपोर्ट और 41 भारतीय मीडिया और थिंकटैंक की रिपोर्ट के अलावा इसमें इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन के 32 रेफरेंसेज और पाकिस्तान के 14 रेफरेंसेज भी शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट्स बता रही हैं कि बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा में पाकिस्तानी सेना के अत्याचारों पर चुप्पी साधे रखने वाले शाह महमूद कुरैशी ने तो यह भी दावा किया है कि इस डोजियर में भारत के युद्ध अपराधों का ब्यौरा दिया गया है। 

 

 

झूठ की पराकाष्‍ठा को पार करते हुए पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने तो कश्मीर को खुली जेल तक करार देते हुए दावा कर डाला कि भारत ने कश्मीर में 90 लाख सैनिकों को तैनात कर रखा है। अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी के अंतिम संस्कार को लेकर झूठ फैलाते हुए कुरैशी ने दावा किया कि उनके परिवार के सदस्यों को अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई थी बल्कि उनके शव को जबरन छीनकर दफना दिया गया।

 

 

प्रेस वार्ता में कुरैशी ने दावा किया कि कश्मीर के भीतर स्वतंत्र ऑब्जर्वर की अनुमति नहीं है और कश्मीर की वास्तविकताओं को तोड़-मरोड़ कर दुनिया के सामने पेश किया जाता है। कुरैशी ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में घोषणा की कि इस डोजियर में भारतीयों द्वारा किए जा रहे अत्याचारों को उजागर किया जाएगा, क्योंकि इसमें 'फर्जी मुठभेड़ों' और कश्मीरी स्वतंत्रता सेनानियों को 'आतंकवादी' के रूप में तैयार करने की भारत की रणनीति के ठोस सबूत हैं।

 

 

दुनिया भर के आतंकवादियों को ट्रेनिंग देने वाले पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री कुरैशी ने तो भारत पर आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया तथा साथ ही दावा किया कि भारत पांच कैंप में आतंकियों को ट्रेनिंग दे रहा है, जो चिंता की बात है। कुरैशी अपने इन  मनगढ़ंत आरोपों को लेकर कोई ठोस सबूत नहीं पेश कर पाये। कुरैशी का बड़बोलापन यहीं नहीं रुका, उन्‍होंने कहा कि भारत, मासूम कश्मीरियों के घरों में हथियार रखता है।

 

 

पिछले दो दशक से पाकिस्तान की ऐसी साज़िशों को लगातार बेनक़ाब कर रहे देश 24x7 के सम्पादक दीपक शर्मा ने कहा कि पाकिस्तान प्रपंच के सहारे भारत को बदनाम करने का हमेशा कोशिश करता रहा है लेकिन दुनिया ने इस्लामाबाद के आरोपों को कभी गम्भीरता से नही लिया । उन्होंने कहा क्यूँकि इमरान खान सत्ता सम्भालने के बाद अपने वायदों पर खरे नहीं उतरे और उनपर जनता का दबाव बढ़ता जा रहा है इसलिए वे अपनी गद्दी बचाने के लिए लोगों का ध्यान कश्मीर की ओर ले जा रहे हैं ।  

Pakistan dossier bundles lies India पाकिस्तान डोजियर बंडल झूठ भारत