ब्रिटिश सांसद ब्रेक्सिट के लिए और समय लेने के लिए, कोर्ट की मदद लेने को तैयार

विपक्ष के द्वारा प्रस्तावित एक बिल, जो जानसन पर दबाव बनायेगा कि वह यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के बाहर निकलने के लिए समय लें, ताकि ब्रिटेन 31 अक्टूबर को होने वाले "नो डील ब्रेक्सिट" से बच सके।

ब्रिटिश सांसद ब्रेक्सिट के लिए और समय लेने के लिए, कोर्ट की मदद लेने को तैयार

अगर प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ब्रैक्सिट मामले में कुछ और समय लेने से मना करते हैं, तो ब्रिटेन के सांसद जिनमें कंजरवेटिव पार्टी के वह सांसद भी सम्मिलित हैं, जिन्हें इसी सप्ताह पार्टी से निलंबित किया गया था, कानूनी कार्यवाही करने का मन बना रहे हैं, बीबीसी ने शनिवार को रिपोर्ट किया।

 

विपक्ष के द्वारा प्रस्तावित एक बिल, जो जानसन पर दबाव बनायेगा कि वह यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के बाहर निकलने के लिए समय लें, ताकि ब्रिटेन 31 अक्टूबर को होने वाले 'नो डील ब्रेक्सिट' से बच सके। इस बिल को संसद के उच्च सदन हाउस आफ लार्ड्स ने भी शुक्रवार को पास कर दिया है।

 

क्वीन एलिजाबेथ द्वारा सोमवार को इस पर दस्तखत कर कानून बनाने की संभावना है।

जानसन, जो 2016 में ब्रेक्सिट पर कराये गये जनमत संग्रह के समय चलाई जा रही यूरोपियन यूनियन छोड़ने की मुहिम के समर्थक थे। उन्होंने प्रधानमंत्री पद जुलाई में अपनी पूर्ववर्ती कंजरवेटिव पार्टी की थैरेसा मे के पदमुक्त होने के बाद संभाला। थैरेसा मे को संसद के माध्यम से ब्रसेल्स के साथ तीन बार सौदेबाजी में असफल होने के बाद प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ा था।

 

नये प्रधानमंत्री का कहना है कि वह 31 अक्टूबर को ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन से बाहर निकालना चाहते हैं, उनके साथ कोई सौदा हो या न हो।

 

जानसन ने कहा है कि और समय लेने का उनका कोई इरादा नहीं है। वह ब्रेक्सिट में देर करने की जगह खाई में गिरकर मरना पसंद करेंगे। शनिवार को द डेली टेलीग्राफ ने लिखा कि उन्होंने कहा है कि वह सिर्फ नये कानून से बंधे हुए हैं।

 

सरकार ने बीबीसी की उस रिपोर्ट पर अभी कोई टिप्पणी नहीं की है, जिसके अनुसार सभी सांसदों ने एक कानूनी टीम बना ली है और यदि आवश्यक हुआ तो वह कानून लागू करवाने के लिए कोर्ट में जाने में भी संकोच नहीं करेंगे।

 

जानसन का कहना है कि ब्रेक्सिट गतिरोध को समाप्त करने के लिए नवीन चुनाव जरूरी है, वह चाहते हैं कि चुनाव 15 अक्टूबर तक हो जाये, ताकि उन्हें आखिरी तारीख के दो सप्ताह पूर्व नया जनमत मिल सके।

 

लेकिन जल्दी चुनाव कराने के लिए दो तिहाई सांसदों की सहमति ज़रूरी है, जबकि लेबर पार्टी सहित विपक्षी दलों का कहना है कि या तो वह इस तरह के प्रस्ताव के विरोध में वोट देंगे या फिर अनुपस्थित रहेंगे, जब तक कि कानून के दबाव में जानसन ब्रेक्सिट लागू करने के लिए अतिरिक्त समय नहीं ले लेता।

 

जानसन बुधवार को चुनाव के लिए आवश्यक समर्थन नहीं हासिल कर पाए, अगली वोटिंग मंगलवार को होनी है।

Brexit European Union British lawmakers