सऊदी बंदरगाह के पास ईरान के तेल टैंकर में विस्फोट के बाद आग लगी

आग लगने से नेशनल ईरानियन आयल कंपनी के टैंकर को भारी नुकसान हुआ है और जेद्दाह से लगभग 60 मील की दूरी पर रेड सी में इसमें रिसाव हो रहा है।

सऊदी बंदरगाह के पास ईरान के तेल टैंकर में विस्फोट के बाद आग लगी

खाड़ी के देशों के बीच आपसी विवाद गहराता जा रहा है। ईरान के सरकारी मीडिया ने शुक्रवार को रिपोर्ट किया कि सऊदी के बंदरगाह शहर जेद्दाह के पास ईरान के एक तेल टैंकर में विस्फोट होने के बाद आग लग गई। विशेषज्ञ इसे आतंकवादियों का हमला मान रहे हैं।

 

नेशनल ईरानियन आयल कंपनी के टैंकर को भारी नुकसान हुआ है और जेद्दाह से लगभग 60 मील की दूरी पर रेड सी में इसमें रिसाव हो रहा है, अज्ञात सूत्रों ने ईरान की स्टूडेंट न्यूज एजेंसी ISNA को बताया। 

 

विशेषज्ञों का अनुमान है कि यह एक आतंकी हमला है, एक सूत्र ने ISNA को बताया।

 

ईरान की रिवोल्यूशनरी गार्ड कार्पस की नजदीकी नूर न्यूज एजेंसी ने कहा कि नाविक दल सुरक्षित है, उसने दुर्घटनाग्रस्त जहाज का नाम 'सेन्टीजेड' बताया है।

 

सऊदी की राजधानी में दो तेल संयंत्रों पर 14 सितंबर को किये गये हमले के बाद से इस समय क्षेत्रीय दुश्मनों ईरान और सऊदी अरब के बीच तनाव चरम पर है। सऊदी के तेल संयंत्रों पर हुते हमले के बाद आग लगने और क्षतिग्रस्त होने के कारण प्रतिदिन 5.7 मिलियन बैरल का उत्पादन बंद हो गया था, जो विश्व की तेल आपूर्ति के 5% से अधिक है।

 

यमन के हौती गुट ने सऊदी पर हमले की जिम्मेदारी ली थी, लेकिन अमेरिकी अधिकारियों ने कहा था कि हमला दक्षिण-पश्चिम ईरान की तरफ से हुआ था। रियाद ने तेहरान पर आरोप लगाया था। ईरान जो यमन की लड़ाई में हौती का समर्थन करता है, उसने आक्रमण में अपना किसी भी तरह का हाथ होने से साफ इंकार किया था।

Iran Saudi Oil tanker explosion