नोटबंदी पर सपा का सवाल, मास्टर स्ट्रोक को बताया ब्रेन स्ट्रोक

अखिलेश ने कहा, भाजपा बताये कि जो भरोसा दिलाया गया था कि कालाधन वापस आएगा, वह कालाधन कौन लेकर चला गया, कितनी संख्या में लोग भारत से विदेश चले गए ?

नोटबंदी पर सपा का सवाल, मास्टर स्ट्रोक को बताया ब्रेन स्ट्रोक
आलोक पाठक
आलोक पाठक

November 10,2021 11:45

लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने एक बार फिर नोटबंदी पर प्रश्‍न उठाया है। नोटबंदी भ्रष्टाचार के खिलाफ मोदी सरकार का एक मास्टर स्ट्रोक था। मगर, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि यह मास्टर स्ट्रोक सही मायने में ब्रेन स्ट्रोक साबित हुआ। 

 

 

नोटबंदी की पांचवीं बरसी पर सपा अध्यक्ष ने कहा, ’’जो मास्टर स्ट्रोक था वह ब्रेन स्ट्रोक की तरह निकला।’’ जानकार बताते हैं कि सूबे में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने नोटबंदी पर सवाल उठाकर पांच साल पुराने जख्म को कुरेदकर इसे एक चुनावी मुद्दा बनाने की कोशिश की है। 

 

 

सपा प्रमुख ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी यह नहीं बता रही है कि नोटबंदी के क्या फायदे हुए। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, ’’जो भरोसा दिलाया गया था कि कालाधन वापस आएगा, वह कालाधन कौन लेकर चला गया। कितनी संख्या में लोग भारत से विदेश चले गए।’’ वह घोटाले करके देश से चंपत हुए लोगों को लेकर सवाल पूछ रहे थे। 

 

 

सपा अध्यक्ष ने नोटबंदी के दौरान पैदा हुए कन्नौज के खजांची यादव का जन्म दिन मनाया। इस मौके पर उन्होंने नोटबंदी के फैसले पर प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा ने जो सपने दिखाए थे वह अधूरे रह गए। उन्होंने कहा कि इस फैसले से सिर्फ अमीरों को फायदा हुआ है।

 

 

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के इरादे से आठ नवंबर 2016 को 500 रुपये और 1000 रुपये के करेंसी नोट को चलन से बाहर करने का फैसला लिया। इस फैसले के इन दोनों प्रकार के नोट सरकार के खजाने में जमा करने के लिए बैंकों के आगे लंबी-लंबी कतारे लगने लगीं। वहीं, चलन वाले नोट बैंकों से निकालने के लिए भी लोगों को इसी तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था। 

SP question demonetisation brain stroke master stroke एसपी प्रश्न विमुद्रीकरण ब्रेन स्ट्रोक मास्टर स्ट्रोक