सपा सत्‍ता में आयी तो शहीद किसानों के परिजनों को 25-25 लाख देगी

अखिलेश ने सपा मुख्‍यालय पर जुटे कार्यकर्ताओं से कहा कि बूथ पर निगरानी रखने में कोई कोताही न करें, इसके साथ ही जन-जन, गांव-गांव समाजवादी सरकार की उपलब्धियां पहुंचाने में कोई चूक नहीं होनी चाहिए

सपा सत्‍ता में आयी तो शहीद किसानों के परिजनों को 25-25 लाख देगी
आलोक पाठक
आलोक पाठक

November 24,2021 08:19

समाजवादी पार्टी ने ऐलान किया है कि सपा की सरकार बनने पर किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों के परिवार को 25-25 लाख रुपये की सम्‍मान राशि तत्‍काल  दी जायेगी। किसानों को न एमएसपी मिल रही है और न ही उसका गन्ना बकाया मिल रहा है।  

 

 

 समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि किसानों की उपज का मूल्य बढ़ाने, मुफ्त सिंचाई, खाद-बीज की पर्याप्त उपलब्धता सहित अन्नदाता के लिए सस्ती बिजली दिलाने के लिए ठोस नीतियां समाजवादी सरकार की ही देन हैं। उन्‍होंने कहा कि अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी किसानों के साथ अन्याय के खिलाफ सदैव खड़ी रहती है। खेत-खलिहान में खुशहाली लाने के लिए अखिलेश यादव पूरी निष्ठा, ईमानदारी से प्रतिबद्ध हैं। किसान आंदोलन के समर्थन में समाजवादी पार्टी के नेताओं-कार्यकर्ताओं ने पूरी निष्ठा-ईमानदारी से कृषि-कानून का विरोध किया। आंदोलनरत समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं को भाजपा सरकार ने प्रदेश भर में मुकदमों में फंसाया है। सैकड़ों सपा कार्यकर्ताओं ने जेल की यातनाएं भी भोगी हैं।

 

 

अखिलेश यादव का कहना है कि सन् 2022 में होने वाले चुनाव जनता के लिए महत्वपूर्ण है। भाजपा लोकतंत्र को हराना चाहती है। भाजपा की नीतियां जनहित विरोधी हैं। उससे लोग ऊब गए हैं। अब जनता का रुझान समाजवादी पार्टी की ओर है। समाजवादी पार्टी जनता के लिए सरकार बनाना चाहती है।

 

 

अखिलेश यादव ने पार्टी मुख्यालय में एकत्र कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि भाजपा की रणनीति जनता के वोट काटने की रही है। वह फर्जी वोट बनाकर चुनाव की पवित्रता को नष्ट करना चाहती है। वह सत्‍ता की भूखी है और वह सत्‍ता के लिए कुछ भी कर सकती है।

 

 

श्री यादव ने कहा कि महंगाई और भ्रष्टाचार से हर कोई परेशान है, नोटबंदी और जीएसटी ने अर्थव्यवस्था को बिगाड़ कर रख दिया है। महंगाई ने लोगों की कमर तोड़ दी है। नौजवान बेरोजगारी से परेशान हैं। सोयाबीन तेल और सार्वजनिक वितरण प्रणाली में मिलावट की जा रही है।

 

 

उन्‍होंने कहा कि किसानों के हित में समाजवादी पार्टी ने मंडियां बनवाना शुरू किया था, भाजपा सरकार ने उन्हें बंद करा दिया। किसान के काम आने वाला डीजल महंगा कर दिया। तीन माह में ही सरकारी खाते में 600 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। यह रकम कहां गई?

 

 

श्री यादव ने कार्यकर्ताओं से कहा कि बूथ पर निगरानी रखने में कोई कोताही न करें। जन-जन, गांव-गांव समाजवादी सरकार की उपलब्धियां पहुंचाने में कोई चूक नहीं होनी चाहिए।                                  

SP power families martyr farmers सपा सत्ता परिवार शहीद किसान